प्रशासनिक रोक के बावजूद शेर सिंह भाटी को न्याय दिलाने दादरी पहुंचे विधायक नंदकिशोर गुर्जर, हत्या को बताया मोब्लिंचिंग, प्रशासन से कहा गिराया जाए दोषियों का घर

0
157

गाजियाबाद की लोनी विधानससभा से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर शुक्रवार को शेर सिंह भाटी हत्याकांड मामलें में दादरी स्थित चिटहैरा पहुंचकर शोकाकुल परिजनों को सांत्वना दी और मामलें में शेरू के पिता शिवराज सिंह भाटी को हरसंभव मदद की बात कहीं। इस दौरान विधायक ने शोक सभा में एकत्र आक्रोशित भीड़ को संबोधित करते हुए कहा कि कोई विधर्मी गुर्जर और हिन्दू समाज को डराने का दुस्साहस कर रहा है तो यह फितूर अपने दिमाग से निकाल दें। हम मिहिर भोज के वंसज है जिन्होंने हमेशा मुस्लिम आक्रांताओं से राष्ट्र की रक्षा की जिनका शासन इराक तक था। साथ ही विधायक ने घटना को मोब्लिंचिंग बताते हुए उच्च अधिकारियों से बचे हुए आरोपी की जल्द गिरफ्तारी और दोषियों के मकान ढहाने की कार्रवाई करने को कहा। इस दौरान दादरी से भाजपा विधायक तेजपाल नागर भी मौजूद रहे और परिवार को न्याय दिलाने की बात कहीं।

बादलपुर में प्रशासन ने रोका विधायक का काफिला, नोंक-झोंक के बाद चिटहैरा पहुंच विधायक ने कहा मामलें में मिलेगा न्याय:

पिछले मंगलवार को शेर सिंह भाटी की हत्या विधर्मियों द्वारा चाकुओं से गोदकर कर दी गई थी। इस घटना के बाद से गुर्जर और हिन्दू बाहुल्य दादरी क्षेत्र में लोगों में भारी नाराजगी थी। इस दौरान हिन्दू हृदय सम्राट और फायर ब्रांड नेता लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर द्वारा चिटहैरा गांव पहुंचने की सूचना और अनहोनी की आशंका से प्रशासन ने पूरी तैयारी कर रखी थी। दंगा विरोधी पुलिस बल की भी तैनाती की गई थी। बादलपुर पहुंचते ही पुलिस प्रशासन ने विधायक के काफिले को बैरिकेडिंग लगाकर रोक लगा दी जिसके बाद विधायक और पुलिस अधिकारियों में नोंक-झोंक के बाद विधायक ने उच्च अधिकारियों से फ़ोन कर नाराजगी जताते हुए कहा हमें चिटहैरा अपने परिवार में कुल्ला करने नहीं जाने दिया जा रहा है। यह गलत है। वहीं लोगों की बढ़ती भीड़ देखकर विधायक नंदकिशोर गुर्जर को बादलपुर से आगे जाने दिया गया। विधायक ने
ग्राम चिटहैरा, दादरी पहुंचकर हजारों की संख्या में पहले से मौजूद आक्रोशित भीड़ के साथ मृत्तक शेर सिंह भाटी को श्रधांजलि अर्पित कर मामलें में न्याय दिलाने की बात कहीं। विधायक ने कहा यह पहला मामला है जिसमें रासुका जैसी धारा लगाकर कार्रवाई की गई है। भाजपा सरकार में कोई भी दोषी बक्शा नहीं जाएगा।

विधायक ने हत्या को बताई मोब्लिंचिंग, कहा हिन्दू विधर्मियों को न बेचें अपनी ज़मीन:

विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने चिटहैरा स्थित शिव मंदिर में हजारों की संख्या में उपस्थित गुर्जर समाज के युवाओं और महिलाओं को सबोधित करते हुए कहा कि शेर सिंह भाटी की हत्या एक गुर्जर समाज के युवा की हत्या नहीं बल्कि यह समूची हिन्दू समाज की हत्या है। दादरी से लेकर दिल्ली, मेरठ, बिहार, कर्नाटक समूचे भारत में हिंदुओं की मोब्लिंचिंग मुस्लिमों द्वारा की जा रही है लेकिन कहीं भी इसपर कोई चर्चा, वामपंथी नेक्सस और अवार्ड वापसी गैंग द्वारा नहीं कि जा रही है। मुस्लिमों को वोटबैंक समझने वाली पार्टियां और उसके नेता राहुल गांधी, केजरीवाल, प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमों बोलने को तैयार नहीं है। सीएए दंगो में बड़ी ही बेहरहमी से अंकित शर्मा और हिंदुओं का कत्लेआम केजरीवाल की सरकार ने करवाया। तबरेज के घर जाकर नौकरी देने वाली केजरीवाल की सरकार में एक हफ्ते पहले ही दिल्ली के नारायणा में राहुल नाम के युवा की आधा दर्जन मुस्लिम युवकों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी लेकिन केजरीवाल सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। परिवार की कोई मदद नहीं कि गई। इसी दादरी में जब गौभक्षक अखलाक मारा जाता है तो पूरा विपक्ष यहां ‘टूरिज्म’ करने आता है, राहुल, केजरीवाल, अखिलेश सभी लेकिन अभी तक कोई शेर सिंह भाटी के मामले में बोलने को तैयार तक नहीं है। यह दोगला चरित्र हिन्दू समाज समझ गया है। वक्त संगठित होकर इन्हें जवाब देने का है। साथ ही विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि अगर किसी भी विधर्मी के दिमाग में गुर्जरों को इस घटना के माध्यम से डराने का फितूर हो तो अपने दिमाग से निकाल दें। हम गुर्जर सम्राट मिहिर भोज, महाराणा प्रताप, छत्रपति शिवाजी के वंसज है।हमारा इतिहास राष्ट्र रक्षा में गोरा बादल, माता पन्ना धाय के त्याग और शौर्य से भरा हुआ है। मैं हिन्दू समाज के लोगों से अपील करता हूँ कोई भी अपनी ज़मीन विधर्मियों को न बेचें और न ही उन्हें आस-पास बसाएं। बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुसलमानों को एजेंडे के तहत बसावट की जा रही हैं। अगर समाज का कोई व्यक्ति ऐसा करता है तो उसका हुक्का-पानी सभी हिन्दूइलकर बन्द करें।

विधायक ने कहा दोषियों की गिरफ्तारी के साथ मकान गिराएं प्रशासन, पीड़ित परिवार को मिलें अखलाक से ज्यादा मदद:

विधायक ने शोक सभा में कहा कि शेर सिंह भाटी की हत्या एक सुनियोजित तरीके से की गई है और इसमें 50 से अधिक लोग शामिल है। इसलिए प्रशासन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करें और स्पीडी ट्रायल के माध्यम से 1 महीने में दोषियों को फांसी की सजा तक पहुंचाया जाए। दोषियों के मकानों को गिराया जाए जिससे भविष्य में कोई इस तरह की घटना करने का दुस्साहस कर कानून को चुनोती न दे सकें। दादरी के आसपास मुस्लिम आबादी में अवैध हथियारों की फैक्ट्री चलाई जा रही है पुलिस उनकी भी तलाशी लेकर क्षेत्र को अपराध मुक्त बनाएं। साथ ही विधायक ने प्रशासन से मांग की कि अगर गौभक्षक अखलाक को सपा सरकार 1 कऱोड की मदद और अन्य सुविधा दे सकती है तो शेर सिंह भाटी की मोब्लिंचिंग मामलें में अखलाक से अधिक मदद पीड़ित परिवार की होनी चाहिए। जल्द माननीय मुख्यमंत्री जी से भेंट कर इस संबंध में अवगत कराया जाएगा।

वहीं दादरी विधायक तेजपाल नागर ने कहा कि शोक सभा और एकत्र लोगों ने जो ज्ञापन दिया है उसे माननीय मुख्यमंत्री जी तक पहुंचाया जाएगा और इस मामलें में सभी दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी।

शोक सभा में मौजूद बजरंग दल के प्रांत संयोजक बलराज डूंगर ने कहा कि अगर शेरू की तेरहवीं तक न्याय नहीं मिला सभी अपराधी जेल नहीं पहुंचे और हमारे ज्ञापन पर कार्रवाई नहीं हुई तो सभी सनातन धर्मी मिलकर महापंचायत कर आगे की योजना तय करेंगे।

इस दौरान विधायक प्रतिनिधि पं ललित शर्मा, करतार नेताजी, भाजपा नेता यतेंद्र नागर, गौरक्षा दल के अध्यक्ष वेद नागर, बजरंग दल प्रान्त संयोजक बलराज डोंगर, प्रदीप गहलोत, वीरेश भाटी, विकास मावी, राजेश तंवर समेत दादरी के चिटहैरा गांव समेत आसपास से हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here