गाजियाबाद के जय भीम पार्क में अवैध कब्जे को लेकर नगर निगम के द्वारा लिया गया बड़ा फैसला और अवैध कब्जा करने वालों को दी चेतावनी

0
54

गाजियाबाद : जनपद गाजियाबाद के बागू जय भीम पार्क मैं अवैध कब्जे को लेकर गाजियाबाद नगर निगम के द्वारा बहुत ही बड़ा फैसला लिया गया और अवैध कब्जा करने वालों को सोमवार तक का समय दिया गया है दिनांक 11 सितंबर दिन शुक्रवार को नगर निगम के अधिकारी अपनी सुरक्षा सिक्योरिटी के साथ जय भीम पार्क में आए और अवैध कब्जे का निरीक्षण किया और साथ ही अवैध कब्जा करने वालों को चेतावनी दी और कहा कि कि उन्हें सोमवार तक का समय दिया गया है जिससे उनका कीमती सामान हो वह उन घरों से या बिल्डिंग से निकाल ले नगर निगम के अधिकारियों ने अपनी बातचीत के दौरान बताया कि वह सोमवार 14 सितंबर को जेसीबी मशीन के साथ आएंगे और जो अवैध रूप से कब्ज़ा किया हुआ है वह घर तोड़े जाएंगे

नगर निगम के अधिकारियों ने अपनी बातचीत के दौरान आगे बताया की अवैध कब्जा को खत्म करने के बाद पार्क की साफ-सफाई होगी और इसका सौंदर्यीकरण होगा और साफ सफाई के सवाल पर उन्होंने जवाब देते हुए कहा की जब अवैध कब्जा खत्म हो जाएगा और पार्क की चारदीवारी हो जाएगी उसके बाद इसकी साफ-सफाई का भी ध्यान रखा जाएगा और साफ सफाई करना पार्क के आसपास रहने वाले स्थानीय लोगों का कर्तव्य बनता है ऐसा नगर निगम के अधिकारियों ने कहा और उन्होंने साथ ही पार्क के सौंदर्यीकरण का भी आश्वासन दीया

जय भीम पार्क के आसपास रहने वाले स्थानीय लोगों ने अवैध कब्जे की जानकारी को लेकर कहा कि इस अवैध कब्जे के बारे में किसी को पता नहीं था और यह काफी लंबे समय से था यदि इस पार्क की बात करें तो पहले यहां कोई पार्क नहीं था आगे स्थानीय लोगों ने बताया यह एक सरकारी जमीन थी और इसे झोड़ के नाम से जाना जाता था और बाबा साहब की मूर्ति भीम नगर गली नंबर 7 के सामने साइड से स्थापित थी लेकिन नेशनल हाईवे 24 के निर्माणी क़रण के दौरान वह बाबा साहब की मूर्ति उस नेशनल हाईवे के कार्य में आ रही थी इसी कारण इस बाबा साहब की मूर्ति को जहां सरकारी जमीन थी जिसे झोड़ के नाम से जाना था वहां पर स्थापित की और नगर निगम के द्वारा पार्क को मंजूरी दी गई लेकिन जब अवैध कब्जा के बारे में पता लगा तो वार्ड नंबर 1 के पार्षद प्रतिनिधि एडवोकेट मुकेश कुमार जी के द्वारा अपनी टीम के साथ मिलकर नगर निगम को एक प्रार्थना पत्र के द्वारा अवगत कराया

उसी समय हमारी बातचीत उस महिला से हुई थी जिनका प्लॉट जय भीम पार्क की जमीन पर है उन्होंने अपनी बातचीत में कहा कि यदि जिनके भी घर इस पार्क की जमीन पर हैं सबके घर टूटेंगे तो हमें कोई एतराज नहीं है और साथ ही उस महिला ने कहा कि यह प्लॉट हमने किसी दूसरे व्यक्ति से खरीदा था और हमें इसके बारे में जानकारी नहीं थी अवैध कब्जे की बात की जाए तो इससे पहले से यह अवैध कब्जा किया हुआ है ऐसा वहां के जो पार्क के आसपास रहने वाले स्थानीय लोग हैं उनका कहना था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here