गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में जश्न ए संविधान का आयोजन किया

0
101

जुगनू गौतम
दिल्ली: गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में दि बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया एवं मानस अमृत सेवा ट्रस्ट ने चांदनी चौक बुद्ध विहार बाग दीवार फतेहपुरी चर्च रोड दिल्ली में आयोजन किया। जिसका मंच संचालन सुनील बौद्ध ने किया। सुनील बौद्ध ने आपने सभी साथियों के साथ विशिष्ट अतिथियों का मंच पर माला पहना कर स्वागत किया। जिसमें राष्ट्रीध्वज फेरा कर और राष्ट्रीय गान गाकर प्रोग्राम का शुभारंभ किया। जश्न ए संविधान मे आए सभी अतिथि गणों ने प्रियदर्शी सम्राट अशोक सुभाष चंद्र बोस भगत सिंह महापंडित राहुल संकृत्यायम झलकारी बाई उधम सिंह डॉक्टर भीमराव अंबेडकर और तथागत गौतम बुद्ध के चित्र पर पुष्प अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की और नमन किया। आज सभी वक्ता गणों ने संविधान और गणतंत्र दिवस के बारे में विस्तार से बताया जैसे कि जसवंत खंडारे ने पाली भाषा के बारे में विस्तार से बताया। सुरेंद्र गोगी वर्ल्ड चैंपियन पावर लिफ्टिंग ने कहा कि संविधान पढ़ना हम सब को बहुत जरूरी है। मानस अमृत सेवा ट्रस्ट चेयरमैन इंदु ने कहा कि गणतंत्र दिवस सर्व समाज को मिलकर मनाना चाहिए क्योंकि यह राष्ट्रीय त्योहार है और सर्व समाज को संविधान का सम्मान करना चाहिए । और कहां की परेशान आदमी की कोई जाति नहीं होती है। एडवोकेट शशि वाला विद्रोही नहीं है शहीद उधम सिंह के संघर्ष को विस्तार से बताते हुए कहा की आज भी हमें उधम सिंह जैसे महा योद्धाओं की जरूरत है। सूरत सिंह बौद्ध ने कहा डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने देश को बहुत अच्छा संविधान लिख कर दिया है। मुकेश गौतम ने कहा की संविधान की जानकारी हर व्यक्ति को होनी चाहिए। रामकुमार बौद्ध ने कहा हम लोगों को जिन वीरों ने आजादी दिलाई थी उन वीरों को मैं शत शत नमन करता हूं। कवि आजाद सिंह कर्दम ने अपनी कविता के माध्यम से कहा कि बाबा साहब के बंदे हैं फैला दो शिक्षा देश में। रंजना आपटे ने एक गीत की प्रस्तुति करते हुए कहा वो याद करो कुर्बानी जय भीम ही कहना जय भीम ही कहना। सूरजभान ने कहा कि हम सबको मिलकर घर घर बौद्ध धर्म का प्रचार प्रसार करना चाहिए ताकि हमारे उन लोगों को पता चले की बुद्ध कौन थे। मिलेन्द्र गौतम सभी आए अतिथियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए हैं संविधान के बारे में विस्तार से बताया कहां थी बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर ने जो हमारे देश को संविधान लिख कर दिया है उसमें सभी वर्गों की महिलाओं के लिए हक अधिकार दिया है और कहां की मैं इस प्रोग्राम के आयोजक की सराहना करता हूं जिन्होंने इस तरह का प्रोग्राम देकर लोगों को संविधान के प्रति जागरूक किया। जश्न ए संविधान में गार्गी गौतम ने भी अपनी एक कविता नन्ही मुन्नी राही हूं भीम की सिपाही हूं बोलो मेरे संग जय भीम जय भीम का नारा लगाया समापन के बाद छोटे-छोटे बच्चों ने मंच पर डांस की प्रस्तुति भी दी। आए सभी अतिथि गणों ने सभी वक्ता गणों को ध्यान पूर्वक सुना और प्रोग्राम की सराहना की। सुनील बौद्ध ने प्रोग्राम में सभी अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आप लोगों ने प्रोग्राम में शिरकत करते हुए प्रोग्राम में चार चांद लगा दिए उसके लिए मैं अपनी समस्त टीम की ओर से आप सभी का बहुत-बहुत साधुवाद करता हूं। इस अवसर पर एडवोकेट बीके गौतम, एडवोकेट राकेश गौतम, देशराज सिंह गौतम, निशा( टॉप 85 यूट्यूब न्यूज़ चैनल चीफ एडिटर) देवराज सिंह ,गोपाल कृष्ण, प्रमोद जाटव ,रोहित कुमार, दिनेश कुमार, अरुण कुमार, राज कुमार, विनय कुमार, मनोज गौतम आदि सम्मिलित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here